आज का विचार-‘‘दुःख‘‘

Share this on :

अगर आपके सिर पर घाव हो जाए, तो इंदकंहम घाव पर लगाएंगे या शीशे में देखकर शीशे पर लगाएंगे। आप कहेंगे नहीं। हम घाव पर लगाएंगे। तो भाई जब आप दुखी है तो आप दूसरों को क्यों ठीक करना चाहते है। आपको अगर खुद के दुखों को ठीक करना है तो दूसरों पर नहीं खुद पर काम करना होगा।

‘अगर आप दुःखी है तो दूसरो पर नहीं खुद पर काम करना पड़ेगा‘‘।

Unhappiness

You have an injury on your head. You are standing before a mirror. Where will you put the bandage: On your head, or on the reflection in the mirror? Of course on the head.

So when you are unhappy, why do you want to change others? If you want to reduce your sorrows, then work on yourself, not others.  

Prof. Sanjay Biyani

Share this on :

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *